For English version click here

प्रशुल्क आयोग की यू एस पी

 

संरचना की विषिष्टता :- सार्वजनिक क्षेत्र में प्रशुल्क आयोग ही केवल ऐसा संगठन है जिसके पास बहु-विषयक दल हैं जिनमें :-

        प्रशुल्क आयोग से संबंधित विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी क्षेत्र के इंजीनियर शामिल हैं।

        भारतीय लागत एवं लेखा परीक्षा सेवा के लागत लेखाकार/सनदी लेखाकार शामिल हैं।

        भारतीय आर्थिक सेवा के अर्थशास्त्री शामिल हैं।

        भारतीय सांख्यिकीय सेवा के सांख्यिकीविद शामिल हैं।

 

सुविज्ञ निर्णय लेने के लिए मानदण्ड के तौर पर मानक कीमत निर्धारण :-

प्रशुल्क आयोग ही सरकार का केवल ऐसा सरकारी संगठन है जो उद्योगों के विभिन्न क्षेत्रकों के लिए नारमेटिव कीमत उपकरण के उपयोग की जानकारी व विशेषज्ञता रखता है। नारमेटिव कीमत विश्लेषण, इष्टतम क्षमता उपयोग, संबंधित इनपुटों (जैसे जनशक्ति, सामग्री, ऊर्जा और मशीन) के उत्पादकता मापांक तथा उत्पादन/विनिर्माण प्रक्रियों के स्वरूप/मात्रा पर आधारित हैं।

 

मानक कीमत निर्धारण के माध्यम से निर्णय लेने की योग्यता में निम्न षामिल हैं :-

        व्यक्ति और/अथवा समूह द्वारा उपयुक्त माना गया।

        इनपुटों (जनशक्ति, सामग्री, ऊर्जा और पूंजी) का इष्टतम/कौशलपूर्ण स्तर पर वस्तुओं/सेवाओं की लागत निर्धारित करने में सहयोग मिलता है।

        भौतिक सुधारों (ढांचागत और प्रचालन) क्षेत्र के अभिनिर्धारण में सहयोग मिलता है जिसके परिणाम स्वरूप यह लागत प्रभाव हो जाता है।

        मानक कीमत निर्धारण की पद्धति एक मूलभूत प्रबंधन साधन है जोकि गुणवत्ता/उत्कृष्टता नवीनता काs बढ़ावा देता है। वास्तव में यह एक सतत् प्रक्रिया है जो किसी व्यक्ति को सर्वश्रेष्ठ प्रतियोगी की तुलना में अपने निष्पादन और कार्य का मूल्यांकन करने में सहयोग करता है। अतः प्रतिस्पर्धात्मकता अध्ययन में यह एक मानक साधन है।

        मानक कीमत निर्धारण उपभोक्ता के हितों का संरक्षण करते हुए सभी स्टेक होल्डरों के हितों का समन्वय करता है। यह एक ऐसा साधन है जो औद्योगिक क्षमता में सुधार पर भी ध्यान केन्द्रीत करता है।

        यह साधन समय के साथ परीक्षण में सफल रहा है और उदीयमान जटिल वैश्विक बाज़ार परिदृश्य और गला काट प्रतियोगिता में अनिवार्य हो गया है।

        मानक कीमत निर्धारण प्रचालन के कार्यकुशल स्तर पर कीमत का निर्धारण करना है।

 

मानक कीमत निर्धारण परिकलन की प्रक्रिया